Saturday, 10 November 2012

गोवत्स द्वादशी Govats Dwadashi



।। गोवत्स द्वादशी ।।

कार्तिक कृष्ण पक्ष की द्वादशी को सायंकाल में गाय एवं बछड़े का पूजन करना चाहिये। पूजन करके प्रार्थना करें।

           सर्व देव मयी देवी सर्व देवैः अलंकृते।

           मातर्ममाभिलषितं सफलं कुरु नन्दिनी।।

हे गो माता आप सब देवों के द्वारा - पूजित हो सब देव आपके शरीर में निवास करते हैं, माँ मेरे मनोरथ सफल करिये। उस दिन गाय का दूध दही घृत आदि का भोजन में उपयोग नहीं करना चाहिये।

।। इति ।।

No comments:

Post a Comment